Advocate and Lawyer difference in Hindi

Advocate and Lawyer difference in Hindi

एक अधिवक्ता और एक वकील दोनों कानूनी पेशेवर हैं, लेकिन उनकी अलग-अलग भूमिकाएं और जिम्मेदारियां हैं।

 

एक अधिवक्ता एक कानूनी पेशेवर होता है जो अदालत में ग्राहकों का प्रतिनिधित्व करता है और एक न्यायाधीश या जूरी के समक्ष उनके मामले पर बहस करता है। कुछ देशों में अधिवक्ता को बैरिस्टर भी कहा जाता है। अधिवक्ता आम तौर पर अदालती मुकदमेबाजी के विशेषज्ञ होते हैं और सबूत पेश करने, कानूनी तर्क देने और गवाहों की जिरह करने का व्यापक अनुभव रखते हैं। उन्हें अक्सर आपराधिक मुकदमों और उच्च-दांव वाले दीवानी मामलों में ग्राहकों का प्रतिनिधित्व करने के लिए बुलाया जाता है। Advocate and Lawyer difference in Hindi

Advocate and Lawyer difference in Hindi

 

दूसरी ओर, एक वकील, एक कानूनी पेशेवर का वर्णन करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक सामान्य शब्द है जो ग्राहकों को कानूनी सलाह और सहायता प्रदान करता है। वकील आपराधिक कानून, परिवार कानून, व्यापार कानून और व्यक्तिगत चोट कानून सहित विभिन्न क्षेत्रों में अभ्यास कर सकते हैं। वे अदालत में प्रतिनिधित्व भी प्रदान कर सकते हैं, लेकिन वे इस भूमिका तक ही सीमित नहीं हैं। Advocate and Lawyer difference in Hindi

 

कुछ देशों में, जैसे संयुक्त राज्य अमेरिका में, “वकील” और “अटॉर्नी” शब्दों का परस्पर उपयोग किया जाता है, और वे दोनों उस व्यक्ति को संदर्भित करते हैं जिसने बार परीक्षा उत्तीर्ण की है और कानून का अभ्यास करने के लिए लाइसेंस प्राप्त है। यूनाइटेड किंगडम जैसे अन्य देशों में, “वकील” एक अधिक सामान्य शब्द है जो किसी भी कानूनी पेशेवर को संदर्भित कर सकता है, जबकि “वकील” का उपयोग एक वकील को संदर्भित करने के लिए किया जाता है जो कानूनी सलाह और सहायता प्रदान करता है लेकिन आम तौर पर अदालत में पेश नहीं होता है। . Advocate and Lawyer difference in Hindi

Advocate and Lawyer difference in Hindi

 

अधिवक्ताओं और वकीलों के बीच एक और महत्वपूर्ण अंतर उनकी शिक्षा और प्रशिक्षण का स्तर है। कुछ देशों में, जैसे यूनाइटेड किंगडम में, अधिवक्ताओं को एक विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरा करना होगा और भूमिका के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए कठोर परीक्षाओं की एक श्रृंखला उत्तीर्ण करनी होगी। इसके विपरीत, संयुक्त राज्य में वकीलों को कानून का अभ्यास करने के लिए लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आमतौर पर केवल बार परीक्षा उत्तीर्ण करने की आवश्यकता होती है। Advocate and Lawyer difference in Hindi

 

संक्षेप में, अधिवक्ता और वकील दोनों कानूनी पेशेवर हैं, लेकिन उनकी अलग-अलग भूमिकाएँ और जिम्मेदारियाँ हैं। अधिवक्ता अदालती मुकदमेबाजी के विशेषज्ञ होते हैं और साक्ष्य प्रस्तुत करने, कानूनी दलीलें देने और गवाहों की जिरह करने का व्यापक अनुभव रखते हैं, जबकि वकील ग्राहकों को कानूनी सलाह और सहायता प्रदान करते हैं। प्रत्येक पेशे के लिए आवश्यक शिक्षा और प्रशिक्षण का स्तर भी देश के आधार पर भिन्न होता है। Advocate and Lawyer difference in Hindi

 

Leave a Reply