294 IPC in Hindi – धारा 294 क्या है

भारतीय दण्ड सहिंता ( Indian Penal Code )   की धारा 294 क्या है । पाठको द्वारा धारा 294 के सन्दर्भ मे  सबसे ज्यादा गूगल पर  Search  किये जाने वाला वाक्य  है  ” Section 294 IPC in Hindi ” । हमारे ब्लॉग पोस्ट को हमने पाठकों  के नज़रिए  से लिखा है । 

हमारा मकसद है की कानून की जानकारी हांसिल करने मे  भाषा को दीवार  नहीं बनना चाहिए । ब्लॉग मे हिंगलिशHindi +English ) का इस्तेमाल किया गया है 

Section 294 IPC – धारा 294 क्या है (294 IPC in Hindi)

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 294 क्या है? आज हम इस आर्टिकल में भारतीय दण्ड संहिता की धारा 294 के बारे में कुछ अहम जानकारी आपको देंगे।

  • भारतीय दंड संहिता की धारा 294 क्या है?
  • भारतीय दंड संहिता की धारा 294 मैं सजा का प्रावधान?
  • भारतीय दंड संहिता की धारा 294 में जमानत का प्रावधान?
  • भारतीय दंड संहिता की धारा 294 ज़मानती है या गैर जमानती अपराध है?
  • 294 IPC in Hindi

 

1.भारतीय दंड संहिता की धारा 294 क्या है?

भारतीय दंड संहिता धारा 294 के अनुसार यदि कोई व्यक्ति दूसरे व्यक्ति की झुंझलाहट के लिए अश्लील हरकतें और गाने गाता है तो यह एक कानूनी जुर्म है। किंतु धारा 294 कोदो भागों में बांटा गया है।

 धारा 294 (a)

यदि व्यक्ति किसी सार्वजनिक स्थान पर अश्लील कार्य एवं हरकते करता है तो यह अपराध धारा 294(a) के अंतर्गत आता है।

धारा 294 (b)

यदि व्यक्ति किसी सार्वजनिक स्थान पर या उसके आस पास कोई अश्लील गीत गाता या शब्द गाता,सुनता या बोलता है तो यह अपराध धारा 294 (b) के अंतर्गत आता है। 294 IPC in Hindi 

 उदाहरण

एक युवा आइकन अभिनेता और मॉडल मिलिंद सोमन ने हाल ही में अपने ट्विटर हैंडल पर अपनी एक तस्वीर पोस्ट की जिसमें वह समुद्र तट पर नग्न दौड़ते हुए नजर आ रहे हैं। उन्हें गोवा पुलिस ने सार्वजनिक स्थान पर अश्लील हरकत को बढ़ावा देने के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा294 के तहत गिरफ्तार किया था।

अपवाद (EXCEPTION)

भारतीय न्यायपालिका के अनुसार यदि कोई व्यक्ति इलेक्ट्रॉनिक रूप से अश्लीलता से संबंधित किसी भी अपराध में शामिल है तो वह अपराध IT Act of 2000 के तहत देखा जाएगा ना कि भारतीय दण्ड संहिता की धारा 294 के तहत।
जैसा कि Sec 81 of IT अधिनियम स्पष्ट रूप से इसके अधिभावी प्रभाव को बताती है। 294 IPC in Hindi 

2.भारतीय दंड संहिता की धारा 294 मैं सजा का प्रावधान ?

भारतीय दंड संहिता की धारादो 294 के अनुसार अगर कोई व्यक्ति अश्लील कार्य और गाने या किसी भी सार्वजनिक स्थान या उसके आसपास कोई अश्लील गाना ,कथा गीत आदि गाता या बोलता मिलता है तो उसे किसी एक अवधि के लिये कारावास जिसे तीन महीने तक बढ़ाया जा सकता है या आर्थिक दंड या दोनों से दंडित किया जाएगा।

3.भारतीय दंड संहिता की धारा 294 में जमानत का प्रावधान ?

भारतीय दंड संहिता की धारादो 294 के अनुसार अगर कोई व्यक्ति अश्लील कार्य और गाने या किसी भी सार्वजनिक स्थान या उसके आसपास कोई अश्लील गाना ,कथा गीत आदि गाता या बोलता मिलता है तो उसे किसी एक अवधि के लिये कारावास जिसे तीन महीने तक बढ़ाया जा सकता है या आर्थिक दंड या दोनों से दंडित किया जाएगा।भारतीय दंड संहिता की धारा 294 जमानती अपराध हे तो IPC की धारा 294 में जमानत मिलने का प्रावधान बहुत सख्त और कठिन नहीं है।294 IPC in Hindi 

4.भारतीय दंड संहिता की धारा 294 ज़मानती है या गैर जमानती अपराध है ?

आईपीसी की धारा 294 मे सजा का प्रावधान अभी हमने पढ़ा अब हम इस विषय में जानने की कोशिश करेंगे कि यह अपराध गैरजमानती है या जमानती अपराध है?परंतु उससे पहले हमें जमानती अपराध और गैर जमानती अपराध के विषय में विस्तृत जानकारी होनी चाहिए।

 गैर जमानती अपराध क्या है?

गैर जमानती अपराधों में डकैती लूट रेप हत्या की कोशिश फिरौती के लिए अपहरण ओर गैर इरादतन हत्या जैसे अपराध शामिल हैं इस तरह के मामलों में अदालत के सामने तथ्य पेश किए जाते हैं और फिर कोर्ट जमानत पर निर्णय लेता है गैर जमानती अपराध वह अपराध होता है जिसमें अपराध करने वाले व्यक्ति को मजिस्ट्रेट के सामने पेश होना पड़ता है। 294 IPC in Hindi 

जमानती अपराध क्या है?

जमानती अपराध में मारपीट ,धमकी, लापरवाही से मौत,लापरवाही से गाड़ी चलाना जैसे अपराध आते हैं। ऐसे अपराधों को जमानती बताया गया है और इसमें अपराधी की जमानत स्वीकार करना पुलिस अधिकारी एवं न्यायालय का कर्तव्य है जमानती अपराधों में कोर्ट को जमानत देना अनिवार्य है परंतु गैर जमानती अपराध में कोर्ट( न्यायालय) अपनी इच्छा के अनुसार अपराधी की जमानत याचिका को खारिज कर सकता है।

 

1.Avinash bajaj V. State (NCT) of Delhi 2008.
यदि कोई व्यक्ति इलेक्ट्रॉनिक रूप मैं अश्लीलता से संबंधित किसी भी अपराध पर IT अधिनियम के तहत मुकदमा चला सकता है ना कि IPC के तहत क्योंकि IT अधिनियम की धारा 81 स्पष्ट रूप से इससे अधिभावी प्रभाव को बताती है। लेकिन मामले के तथ्यों और परिस्थितियों के अनुसार IT अधिनियम और IPC दोनों के प्रावधनों को आकर्षित किया जा सकता है। 294 IPC in Hindi 

2.Senthil Vs The Inspector of Police on 2 Feb,2015.

3.Pawan Kumar Vs The State of Haryana And Anr on 7 May,1996

4.Zahir Hussain Vs State Rep by its on 31 August,2021

3.भारतीय दंड संहिता की धारा 294 का IPC में मूल?

धारा 294 का मूल IPC 1860 है और IPC 1860 एक व्यापक कानून है जो भारत में आपराधिक कानून के वास्तविक पहलुओं को शामिल करता है यह अपराधों को बताता है और उनमें से प्रत्येक के लिए सजा और जुर्माना बताता है।आईपीसी की धारा 294धारा 200 बयान्वे और 293 का अश्लीलता क्रिस से संबंधित है।
अभिव्यक्ति ‘अश्लीलता’ या ‘अश्लील’ क्या है। IPC में स्पष्ट रूप से परिभाषित नहीं है।

Leave a Reply